BREAKING

बिजली सर्किट की तरह जल सर्किट भी विकसित किए जाएंगे- नितिन गडकरी

 नई दिल्ली,

केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री श्री नितिन गडकरी ने देश में नदी संपर्क, बैराजों, बांधों, रबड़ के बांधों के निर्माण, ड्रिप और पाईप से सिंचाई की आवश्‍यकता पर बल दिया तथा बेहतर जल संरक्षण के लिए बिजली सर्किट की तर्ज पर जल सर्किट की जरूरत को रेखांकित किया।

नई दिल्‍ली में दूसरे भारत जल प्रभाव सम्‍मेलन 2017 को संबोधित करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि जल की उपलब्‍धता परेशानी नहीं है, लेकिन हमें इसके प्रबंधन और संरक्षण के बारे में सीखना होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के 2022 तक किसानों की आय दुगुना करने की योजना उचित जल प्रबंधन के बिना हासिल नहीं की जा सकती है। श्री गडकरी ने कहा कि ड्रिप और पाइप के जरिए सिंचाई से पानी की बर्बादी कम होगी और यह किसानों के लिए किफायती होगी। उन्‍होंने कहा कि नदी संपर्क कार्यक्रम से तमिलनाडु, कर्नाटक, तेलंगाना और महाराष्‍ट्र जैसे महत्‍वपूर्ण क्षेत्रों में जल की समस्‍या में कमी आएगी।

इस मौके पर केंद्रीय पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि ‘अविरल और निर्मल गंगा’ के लक्ष्‍य को हासिल करने में सरकार के कार्यक्रम के अलावा आम जन की संकल्‍प शक्‍ति बहुत महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि चर्चा काफी हो गई हैं और यह समय कार्य करने तथा परिणामा हासिल करने का है। मंत्री महोदया ने कहा कि वे चाहती हैं कि स्‍वच्‍छ गंगा से संबंधित सभी परियोजनाएं अक्‍टूबर, 2018 तक पूरी तरह से शुरू हो जाए।

इस अवसर पर गंगा नदी बेसिन प्रबंधन और अध्‍ययन केंद्र द्वारा तैयार ‘विजन गंगा’ शीर्षक के दृष्‍टि पत्र का भी विमोचन किया गया। ‘गंगा जल में परिवर्तन की बहुमूल्‍यता’ पर केंद्रित इस चार दिवसीय सम्‍मेलन का आयोजन जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय के राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ गंगा मिशन के सहयोग से गंगा नदी बेसिन प्रबंधन और अध्‍ययन केंद्र, आईआईटी कानपुर ने किया है।

सम्‍मेलन के दौरान एकीकृत जल संसाधनों के प्रबंधन मॉडल को अपनाने की दिशा में बढ़ने के लिए जल क्षेत्र से जुड़े बड़े और छोटे मुद्दों पर चर्चा होगी। पहला सम्‍मेलन 2012 में आयोजित किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

अयोध्या में राम मंदिर बनाने का फॉर्मूला देना पड़ा महंगा, AIMPLB से निकाले गए मौलाना सलमान नदवी

 फाइल फोटो लखनऊ, अयोध्या में मंदिर बनाने के लिए मस्जिद शिफ्ट करने का आइडिया देना ...

मेघालय चुनाव: इस बार इटली, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया और स्वीडन भी डालेंगे वोट

शिलॉंग, मेघालय विधानसभा चुनाव में इस बार इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया भी वोट करेंगे। ...

कर्नाटक चुनाव: राहुल गांधी बोले- भ्रष्टाचार में बीजेपी का विश्व रिकॉर्ड है

 फोटो सौजन्य- ट्विटर बैंगलुरु, कर्नाटक विधानसभा चुनाव इस बार बेहद रोचक होने जा रहा है। ...