BREAKING

भारत की दक्षिण अफ्रीका पर रिकॉर्ड जीत, विराट कोहली का शानदार शतक

डरबन,

भारत ने 6 मैचों की सीरीज के पहले वनडे मैच में दक्षिण अफ्रीका को छह विकेट से हरा दिया। गुरुवार को डरबन में हुए इस मैच की जीत में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की अहम योगदान रहा। दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में 269 रन के जवाब में विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका में पहला और अपने करियर का 33 वां वनडे शतक लगाया।

दक्षिण अफ्रिका के हाथों उनकी धरती पर टेस्ट सीरीज गवांने के बाद टीम इंडिया वनडे मैच में भारी पड़ी भारतीय टीम ने साउथ अफ्रिका को कई रिकॉर्ड के साथ 6 विकेट से धूल चटा दिया है। मैच की खास बात यह रही कि दोनों टीम के कप्तानों ने अतिआवश्यक शतकीय पारी खेली। लेकिन एक की सेंचुरी टीम को जीत की ओर ले गई और एक की बेकार चली गई।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम अफ्रिका के हाशिम अमला, क्विंटन डी कॉक, एडिन मार्करम, जीन पॉल डुमनी और डेविड मिलर के रूप में 5 बल्लेबाज 28वें ओवर में ही पवेलियन लौट चुके थे। उस समय टीम डेड़ सौ का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाई थी। टीम का स्कोर 134 रन था। उस वक्त साउथ अफ्रिका को जरूरत थी तो बस एक लंबी साझेदारी की।

टीम के सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला के सस्ते में निपट जाने के बाद मैदान में आए कप्तान फाफ डु प्लेसिस एक छोर से अपने पांच साथियों को एक-एक कर के पवेलियन लौटते हुए देख चुके थे। साथ ही उनके बल्ले से निकलन वाले हर रन टीम को मजबूती प्रदान करने में लगे थे।

35 ओवर के बाद टीम का स्कोर 166 हो गया था। एक छोर पर मोर्चा संभाले कप्तान फाफ डु प्लेसिस 77 गेंदों पर 71 रन बनाकर खेल रहे थे। उनका साथ दे रहे थे ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस। क्रिस 22 गेंदों पर 13 रन बना कर खेल रहे थे। लेकिन 41 ओवर के चौथे गेंद पर वह कुलदीप यादव के हाथों बोल्ड हो गए। यानी इस छोर से विकेट टूटता रहा लेकिन उस छोर से कप्तान डु प्लेसिस लगातार रन बटोरते रहे। पारी की आखिरी ओवर के दूसरे गेंद तक वह टीम के लिए संघर्ष करते रहे। उन्होंने 120 गेंदों पर 112 रनों का सहयोग दिया।

इस तरह साउथ अफ्रिका की टीम 50 ओवर में 8 विकेट खोने के बाद कप्तान डु प्लेसिस के अहम योगदान के कारण 269 रनों की फाइटिंग स्कोर पा चुकी थी। अब टीम को जरूरत थी इस संघर्ष के फल पाने की। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली का शानदार शतक डु प्लेसिस के प्रदर्शन पर भारी पड़ गया। कप्तान कोहली का शतक टीम इंडिया के लिए काफी प्रभावी साबित हुआ।

टीम इंडिया ने 13वें ओवर में ही अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों को गवां दिया था। उस वक्त टीम का स्कोर था 67 रन। रोहित शर्मा मोरकल के हाथों 20 रन बनाकर और शिखर धवन मार्करम की गेंद पर 35 रन बनाकर आउट हो गए थे।

अब बल्लेबाजी का भार अपने उपर लिए कप्तान कोहली अजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर आगे बढ़ रहे थे। पारी के 43वें ओवर रहाणे और 45वें ओवर में कप्तान कोहली आउट हो गए। लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। भारत 250 का आंकड़ा पार कर चुका था। कोहली 119 गेंदों पर 112 रन बनाए।

इसके बाद भारतीय टीम को जीत के लिए 5.5 ओवर में महज 8 रनों की दरकार थी। जिसे पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और ऑलराउंडर हार्दिक पाण्डया ने नाबाद रहते हुए पूरी कर दी। और इस तरह कप्तान कोहली का दमदार प्रदर्शन भारत के लिए असरदार साबित हुआ। 6 मैचों की वनडे सीरीज का पहला मैच जीतकर भारत ने साउथ अफ्रिका पर बढ़त बना ली है।

अगर रिकॉर्ड्स की बात करें तो भारत अभी तक दक्षिण अफ्रीका में कभी भी पहला वनडे मैच नहीं जीता था। और न ही भारतीय टीम को कभी डरबन में किसी वनडे मैच में जीत हालिस हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

किसी दूसरे को ट्रांसफर कर सकते हैं ट्रेन का कनफर्म टिकट, जानिए, किसको मिलेगा इसका लाभ

 फाइल फोटो नई दिल्ली, अगर आपने ट्रेन का कनफर्म टिकट लिया है लेकिन किसी कारण ...

त्रिपुरा में आज से बीजेपी की सरकार, पीएम बोले- इतिहास में दर्ज हो गया यह चुनाव, भविष्य में होती रहेगी चर्चा

अगरतला, त्रिपुरा में आज से लेफ्ट का राज खत्म हो गया और बीजेपी नेता बिप्लब ...

कांग्रेस को मुस्लिम पार्टी ठहराने में जुटी बीजेपी- सोनिया गांधी

 फाइल फोटो नई दिल्ली, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने शुक्रवार को इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में ...